Hot Masala Board - Free Indian Sex Stories & Indian Sex Videos. Nude Indian Actresses Pictures, Masala Movies, Indian Masala Videos


Go Back   Hot Masala Board - Free Indian Sex Stories & Indian Sex Videos. Nude Indian Actresses Pictures, Masala Movies, Indian Masala Videos > Hindi Sex Stories - Free Indian Sex Stories in Hindi Fonts !!!

Reply
 
Thread Tools Display Modes
  #71  
Old 06-04-2017, 10:23 AM
sherkhan sherkhan is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 216,908
Default तान्त्रिक

बहुत जबरदस्त आकर्षण लग रहा है कहानी में ।
जल्दी से अगला भआग पोस्ट करो मित्र ।
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #72  
Old 06-04-2017, 10:23 AM
sherkhan sherkhan is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 216,908
Default तान्त्रिक

सभी मित्रों को होली की हार्दिक शुभकामनाएं !!
आपकी सेवा में अपडेट प्रस्तुत है
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #73  
Old 06-04-2017, 10:24 AM
desiman7 desiman7 is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 216,461
Default तान्त्रिक

मित्रों !! आपके कमेन्ट्स नही आ रहे हैं !! आगे पोस्ट करूँ या नहीं ????
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #74  
Old 06-04-2017, 10:24 AM
lamboo lamboo is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 218,176
Default तान्त्रिक

Cobra bhai....thanx shabd nahi hai mere paas....bhale he mai tantr mantr se vasta nahi rakhta lekin....is kahani ki bhaasha man m ek ajeeb si uttejna prvahit karti hai....shukriya dost....aisi kahaniya hume dene ke liye....
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #75  
Old 06-04-2017, 10:25 AM
goldfish goldfish is offline
Senior Member
 
Join Date: Dec 2007
Posts: 277,419
Default तान्त्रिक

साथियों ! तंत्र मार्ग में काम का
प्रयोग होता है ऐसा मैंने अनेक बार
सुना था , लेकिन वही शब्द जब तंत्र
भैरवी ने दोहराए तो आश्चर्य होना
स्वाभाविक था ! मैं आज तक यही
सोचता था कि तंत्र साधना में यौन
क्रिया साधक है या बाधक ? लेकिन
मेरे इस प्रश्न का उत्तर कुछ
पुस्तकों में अवश्य मिला , लेकिन मैं
संतुष्ट नहीं हो सका ! मैं यह मानता हूँ
यह एक अत्यन्त गम्भीर प्रश्न है
इस प्रश्न का उत्तर जानने के लिए
हमे इस बात को समझना होगा कि
एक चाक़ू आपकी जान ले सकता है
और रक्षा भी कर सकता है ! वह इस
बात पर निर्भर है कि आप उसका
किस प्रकार प्रयोग करते हैं ! अगर
उससे आप किसी की जान ले लें तो
वह मारक भी हो सकता है और अगर
इसकी सहायता से किसी रोगी की
शल्यचिकित्सा करें तो वह प्राण
दाता हो सकता है ! आपके ज्ञान ,
अर्जित साधना शक्ति , एकाग्रता
के स्तर के अनुसार यौन क्रिया का
भी एक निश्चित उद्देश्य होता है !
वह आपकी साधना में , साधना के
बल में और एकाग्रता स्थापित करने
में सहायक सिद्ध हो सकती है ,
लेकिन सच्चाई यह है कि हम यौन
क्रिया के प्रयोजन को समझने से ही
चूक गए हैं ! मेरा मस्तिष्क तीव्रता
से काम के मायाजाल को सुलझाने में
लगा था ! अचानक मिन्ही की गंभीर
आवाज़ मेरे कानों में गूंजी – कुशोक !
किस दुनिया में खो गए ? मैंने हडबडा
कर कहा – कहीं नहीं मिन्ही मैं तो
यहीं तुम्हारे पास हूँ ! मैं तुम्हारी
ज्ञान से भरी बातें सुनने को व्यग्र
हो रहा था ! मिन्ही मुस्करा कर रह
गयी , कुछ समय रुक कर मिन्ही फिर
बोली – तो सुनो और प्रयत्न कर
ग्रहण कर समझने की चेष्टा करो !
तंत्र साधना निरंकुश काम ( SEX )
और सिद्धि पर नियंत्रण है , बल
पूर्वक नहीं वरन स्वाभाविक रूप से !
श्री विश्वा शक्ति चक्र सम्राज्ञी
है ! प्रसिद्ध है – यत्रास्ति भोगो च
तंत्र मोक्षो , यत्रास्ति मोक्षो न च
तत्र भोग: ! श्री सुन्दरी सेवन
तत्परानो भोगश्च मोक्षश्च करस्थ
एव !! अर्थात जहाँ सांसारिक भोग
( काम ) आदि की चर्चा है वहां मोक्ष
का नाम ही अश्राव्य है और जहाँ
मोक्ष आदि की चर्चा हो वहां भोग के
लिए भला स्थान कहाँ ? केवल एक
मार्ग ऐसा है जिससे दोनों वस्तुएं
साधक के करस्थ अर्थात अधीन हो
जाती हैं अर्थात भोग व मोक्ष पर
उसका समान रूप से अधिकार हो
जाता है और वह मार्ग भी श्री विद्या
अर्थात तंत्र द्वारा सिद्धि और
काम पर पूरा नियंत्रण ! मिन्ही
अचानक बोल पड़ी – सुन रहे हो ना
कुशोक ! जी हाँ – मैंने तपाक से
उत्तर दिया ! मिन्ही पुन: बोली –
तंत्र मार्ग में काम की महत्ता
सर्वोपरि है ! इसके बिना तंत्र
निष्क्रिय अर्थात शवतुल्य है ! तंत्र
की क्रियाओं को चालित करने के
लिए काम का आसरा लेना आवश्यक
है ! काम ही तंत्र को , साधना को
उर्जित करता है , यही वह तत्व है जो
साधक के साधना मार्ग में सहायक
होता है ! कुशोक ! अत: तंत्र और
काम एक दूसरे के पूरक हैं ! काम का
आपकी त्वचा पर ऐसा क्या प्रभाव
पड़ता है ? काम की एक एक क्रिया
कितनी रहस्यमय है ! शरीर की एक
एक ग्रंथि किस प्रकार अपना
कार्य करने लगती है ! एक एक
स्थान से कैसे स्त्राव होने लगता है !
श्वास की गति कैसे बढ़ जाती है ,
ह्रदय की धड़कने इतनी अधिक हो
जाती है कि वैज्ञानिक भी हैरान हैं !
नाढ़ी की गति एक मिनट में 100 से भी
अधिक बार धडक जाती है ! साधक
का तापमान प्राय: 98 से 99 का
रहता है ! i इससे आगे का तापमान
ज्वर माना जाता है ! सम्भोग के
समय तापमान इससे कहीं ऊंचा चला
जाता है ! आखिर यह चमत्कार क्या
है ? सम्भोग के समय साधक अपनी
सुधबुध क्यों कर भूल जाता है ? कहीं
यह एकाग्रता तो नहीं है ? साधना में
जिसकी आवश्यकता होती है !
कुशोक ! मैं काम को लेकर कुछ और
रहस्य उजागर करना चाहती थी ,
लेकिन अभी इतना ही ! तंत्र में काम
असभ्य नहीं है ! तंत्र में काम
संतुलित होता है ! तंत्र में काम
संतुष्टि के लिए नहीं वरन सिद्धि के
लिए होता है ! तंत्र में काम ( सेक्स )
के समय साधक हिंसक नहीं वरन
अहिंसक होता है ! वह काम करता भी
है और नहीं भी करता है ! यही तंत्र
की सुन्दरता है ! कुशोक ! स्मरण रहे
काम के समय सम्भोग शव होता है
और साधना जाग्रत होती है ! खेर !
आज इतना ही ! अब मैं थोडा प्रकाश
गुरु तत्व पर डालूंगी !
तंत्र मार्ग में कहा गया है कि
प्रत्येक साधक के तीन प्रत्यक्ष
देव हैं – माता – पिता और गुरु ! इन्हें
ब्रह्मा , विष्णु और शंकर की उपाधि
दी गयी है ! माता जन्म देती है ,
इसलिए ब्रह्मा है ! पिता पालन –
पोषण करता है इसलिए विष्णु है !
गुरु कुसंस्कारों का संहार करता है ,
इसलिए शंकर है ! शिक्षा से बड़कर
साधक के लिए और कुछ भी नहीं है !
शिक्षा साधक के ह्रदय में फेले
अज्ञान के अन्धकार को दूर करती
है ! ‘’ सद्गुरु कृपा मिटहिं संदेहा ‘’ गुरु
कृपा से संदेह का नाश हो जाता है !
साधक के जीवन मैं सद्गुरु का आना
प्रभु कृपा से होता है ! कुशोक ! ‘’ जप
माला छापा तिलक सरे न एको काज
‘’ केवल त्रिपुण्ड लगा लेने से , बड़े –
बड़े रुद्राक्ष की माला पहन लेने से
या रंग बिरंगे वस्त्र धारण कर लेने
से कोई गुरु नहीं बन सकता जिस
प्रकार घट , कलश और कुम्भ तीनों
का अर्थ एक ही है – घड़ा वैसे ही
मन्त्र – देवता और गुरु तीनो एक ही
अर्थ के बोधक हैं ! अचानक साधना
कक्ष के द्वार पर धीरे से
खटखटाहट हुई मिन्ही ने नज़र
उठाकर देखा तो सामने जिस्सी खड़ी
थी ......
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #76  
Old 06-04-2017, 10:25 AM
lamboo lamboo is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 218,176
Default तान्त्रिक

साथियों ! इस समय तंत्र
भैरवी तारा के हाथ , मस्तिष्क और
जुबान तेज़ी से चल रही थी !
मस्तिष्क पूरी तीव्रता से तंत्रगुरु से
प्राप्त ज्ञान की परतें खंगाल रहा
था , हाथ पूरी सावधानी के साथ तंत्र
की सामग्री को नियमपूर्वक सजाने
में लगे थे और जुबान शमशान के तंत्र
को परत दर परत खोलने में लगी थी !
तंत्र भैरवी तारा ने माथे पर लटक
रही आवारा लट को पीछे की और
झटक दिया और पूरी तन्मयता से
बोलना प्रारम्भ किया -- साधकों ! मैं
तुम्हारे समक्ष अपने तंत्रगुरु से
प्राप्त शमशान साधना के अत्यन्त
गूढ़ रहस्य को प्रकट कर रही हूँ !
जिस प्रकार मैंने यह साधना और
विधि अब तक गुप्त रखी उसी
प्रकार तुम भी गुप्त रखना ! तंत्र
शास्त्र कहता है – जो महाबली ,
महाबुद्धिमान , महासाहसी ,
सरलचित , दयाशील , सभी
प्राणियों के हितकार्य में अनुरत है ,
वही शमशान साधना के लिए
उपयुक्त है ! शमशान साधना के
समय साधक किसी भी प्रकार से
भयभीत नहीं होगा ! हास परिहास का
सर्वथा त्याग करेगा और किसी भी
ओर ना देखकर केवल एकाग्रचित से
साधना का अनुष्ठान करेगा !
शमशान साधना के लिए कृषणपक्ष
अथवा शुक्लपक्ष की अष्टमी
अथवा चतुर्दशी की तिथि में शमशान
साधना की जा सकती है ! लेकिन
कृषणपक्ष ही सबसे उत्तम और
शास्त्र सम्मत है ! शमशान साधना
में सामग्री के रूप में समिशअन्न ,
पुराना गुढ़ , छाग , मदिरा ,
केसरयुक्त खीर , पिष्टक अनेक
प्रकार के खट्टे – मीठे फल , नैवेद्य
इन सबको पहले से ही एकत्र कर
साधक उन सब पदार्थों को शमशान
स्थल पर लाकर निर्भय होकर
समानगुणशाली , सुरक्षा कवच के
साथ शमशान साधना करेगा !
बलिद्रव्य सात पात्रों में रखकर
उनके चार पात्रों को चारों दिशायों में
और मध्य में तीन पात्रों को रखकर
मन्त्र सहित शमशान के देवता ,
भटकती अशांत आत्माओं से निवेदन
करेगा कि वह उसके इस अनुष्ठान में
सहायक हों ! गुरु भाइयों , तंत्रगुरु को
आत्मरक्षार्थ कुछ दूरी पर ही
रखेगा ! तंत्र भैरवी तारा की बात
सुनकर मेरे से रुका नहीं गया , मैंने
पूछा – भैरवी तारा , हम तो किसी भी
प्रकार से तुम्हारी सुरक्षा नहीं कर
सकते ? क्योंकि हम तो अज्ञानी हैं ,
अशिक्षित हैं ! तंत्र भैरवी तारा ने
बड़े ही कोमल स्वर में समझाया –
ठीक है साधक , तुम भले ही मेरी
सुरक्षा ना कर सको , लेकिन मैं
अपनी और तुम्हारी सुरक्षा में
सक्षम हूँ ! खेर यह प्रश्न तुम फिर
कभी कर लेना , अभी तो तुम केवल
मेरी बात ध्यानपूर्वक सुनो !
तंत्र सार ग्रन्थ कहता है –
असंस्कृता चिता ग्राह्या न तु
संस्कार संस्कृता ! चानडालादिशु
समप्राप्ता केवलं शीघ्रसिद्धिदा !!
साधना के लिए असंस्कृता चिता ही
स्वीकार्य है ; संस्कृता अर्थात जल
आदि से शुद्ध चिता से साधक
साधना बिलकुल न करे ! शमशान
साधना प्रारम्भ करने से पूर्व
स्वस्तिवाचन और संकल्प आदि
करना चाहिए ! गुरु का ध्यान सबसे
आवश्यक कर्म है इसके पश्चात
विघ्न विनायक गणेश , बटुक भैरव ,
योगिनी , मात्रकागण आदि की पूजा
करेगा ! इसके पश्चात ‘ फट ‘
बोलकर आत्मरक्षा मन्त्र का
उच्चआरण करेगा ! इसके उपरांत
तीन अंजुली पुष्प छिडकेगा ! चारों
दिशाओं का बंधन करेगा ! अंत में
महाकाल का आवाहन करेगा ! साधना
के समय अगर किसी भी प्रकार का
भय उत्पन्न हो तो तंत्रगुरु तुरंत उस
भय का निवारण करेगा ! तंत्र गुरु की
उपस्थिती ना होने पर अत्यंत
बलशाली तंत्र सुरक्षा कवच धारण
करना सबसे उत्तम उपाय है ! मैं और
मेरे साथ बेठे दोनों व्यक्ति तंत्र
भैरवी तारा की बातों को बड़े ही ध्यान
से सुन रहे थे ! ऐसा अनुभव हो रहा
था जैसे शमशान साधना की मोहिनी
हम सब पर छा गयी हो ? तंत्र भैरवी
तारा बोली – साधकों ! इससे और
अधिक ज्ञान जो अत्यंत गोपनीय है
वह मैं नहीं बतलाऊन्गी ! इससे
अधिक बतलाना गुरु आज्ञा का
उलंघन होगा ! वह मैं किसी भी
स्थिती में नहीं करुँगी ! मैंने तंत्र
भैरवी तारा से पूछा – हमे कितनी
संख्या मैं जाप करना चाहिए ? ताकि
सफलता प्राप्त हो सके ? केवल
इतना तो अवश्य बतला दो !
तंत्र भैरवी तारा बोली – मन्त्र अगर
एक अक्षरी है तो दस हज़ार , दो
अक्षरी है तो आठ हज़ार , तीन
अक्षरी है तो पांच हज़ार और अगर
चार अक्षरी है या इससे अधिक है तो
18000 की संख्या में जप करना
अनिवार्य है ! जप मध्य रात्री से
प्रारम्भ करके सूर्योदय तक करना
चाहिए ! साधना पूर्ण होने के पश्चात
गुरु को क्षमता के अनुसार दक्षिणा
प्रदान करनी चाहिए ! इतना कहकर
भैरवी तारा ने अपने मुख को स्वच्छ
किया और एक बार फिर वह
अनुष्ठान की तैयारी में लग गयी !
अचानक ही एक ........
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #77  
Old 06-04-2017, 10:25 AM
gabbar gabbar is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 217,148
Default तान्त्रिक

साथियों ! दाताराम जब बतलाने का
इच्छुक ही न था , तो मैं विषय आगे
क्यों छेड़ता ? मैंने तुरन्त विषय बदल
दिया – अब आगे क्या विचार है ?
मैंने पूछा ! आपका मतलब ? उसने
भवें तानी ! महाशमशान में अभी तो
रहोगे ? मैंने पूछा ! हाँ अभी काफी
काम शेष है ! दाताराम बोला – आठ –
दस दिन और इसी शमशान में
आभिचारिक तंत्र साधना करूँगा !
ठीक है ! इधर आया था तो तुमसे
मिलना ठीक समझा , अत: चला
आया ! बड़ी ही प्रसन्नता की बात
है ! अभी तो दो – चार दिन रहोगे ना ?
कल ही चले जाने का विचार है ! मैंने
बतलाया ! जैसी तुम्हारी इच्छा ! वह
बोला और फिर कुछ सोच में पड़
गया !
वह सुन्दरी एकदम चुपचाप सी बेठी
थी ! मुझे ऐसा अनुभव हो रहा था ,
शायद दाताराम ने उसे किसी
शक्तिशाली तंत्र मन्त्र से सिद्ध
कर रखा है , उसके अचेतन मन पर
बलपूर्वक अधिकार कर उसको
चेतना शून्य कर दिया था ! वशीकरण
की यही क्रिया होती है !
उसके पास से मैं वापिस लौट पड़ा ,
पर जाते – जाते एक बार मैंने मुड़कर
दाताराम की ओर खोजपूर्ण द्रष्टि
से अवश्य देखा और उसकी सुन्दरी
भैरवी को भी ! कुछ दूर आगे जाकर मैं
रुक गया ! अचानक मेरे कदम स्वयं
लौटने को विवश हो गए , पर दो –
चार कदम लौटने के पश्चात मैं रुक
गया , व्यर्थ दखल देना मुझे कुछ
अच्छा नहीं लगा ! दाताराम का
मतलब अब मेरी समझ में आ गया
था ! पद्मपगा ( कमल जैसे पैर ) तंत्र
भैरवी का साधन उसने जटिल शव
साधना के लिए किया है ! अवश्य ही
इस महाशमशान में यह दुरूह –
वीभत्स शव साधना करेगा ! यह बात
ध्यान में आते ही दाताराम को
सावधान कर देना चाहता था कि शव
साधना कोई सरल कार्य नहीं है ,
तनिक सी असावधानी घातक ही नहीं
मारक भी सिद्ध हो सकती है !
मेरे साथ जो साधक रायपुर छ.गढ़.
साधना शिविर में गए थे , उनको मैंने
एक अलग कक्ष में ले जाकर इस
विषय में विस्तार से बतलाया था !
वह मेरी उस बात को स्मरण करें !
मनुष्य के शरीर के दो रूप होते हैं !
प्रथम स्थूल और दूसरा सूक्ष्म !
प्रत्येक जीवित और द्रष्टि में आने
वाले जीव में सूक्ष्म तथा स्थूल
शरीर दोनों रहते हैं ! इसलिए वह
दिखलायी पड़ता है ! विकास पाता है
और जीव की संज्ञा ग्रहण करता
है ! स्थूल शरीर पर समय का और
कर्म का अच्छा या बुरा प्रभाव
पड़ता है , लेकिन सूक्ष्म शरीर पर
नहीं ! स्थूल शरीर ढलता है जर्जर
होने लगता है , तब सूक्ष्म शरीर के
लिए वह अनुपयोगी , निवास करने के
योग्य नहीं रह जाता है ! जब स्थूल
शरीर सूक्ष्म शरीर के निवास योग्य
बिल्कुल नहीं रह जाता है तो सूक्ष्म
शरीर अलग हो जाता है ! स्थूल शरीर
‘ शव ‘ की स्थिति में आ जाता है और
ऐसे शरीर का अंतिम संस्कार कर
दिया जाता है ! सूक्ष्म शरीर मंडराता
रहता है और अपने योग्य स्थूल
शरीर की खोज में भटकता रहता है ,
लेकिन जैसे ही उसे कोई उपयोगी
स्वस्थ शरीर मिलता है , वह उसमे
समा जाता है ! यह क्रिया ‘
पुनर्जन्म कहलाती है !
विलग हो गए सूक्ष्म शरीर की मृत
( निष्क्रिय ) हो गए स्थूल शरीर में
पुन: स्थापना ही बहुचर्चित शव
साधना है ! तंत्र – मन्त्र द्वारा
स्थूल शरीर , सूक्ष्म शरीर के
निवास योग्य बना दिया जाता है और
स्थूल शरीर मृत शरीर से पुन: जीवित
हो जाता है , लेकिन नियंत्रण न रख
पाने के कारण सूक्ष्म शरीर , स्थूल
शरीर में प्रवेश कर विस्फोटक रूप
भी धारण कर सकता है और साधक
के लिए दारुण म्रत्यु का कारण
बनता है ! प्राय: शव साधना से
नियंत्रण गँवा बेठने के कारण ऐसी
दुर्घटना होती है ! शव साधना एक
जटिलतम क्रिया है ! अतएव योग्य
से योग्य साधक भी कई बार गलती
कर जाता है ! जिस प्रकार राकेट
प्रेक्षण में एक पल के हजारवें क्या
लाखवें हिस्से की गणना की गलती
भी उसका पथ भ्रष्ट कर सकती है !
यही दशा शव साधना की है ! अतएव
आज तक मैं इस प्रकार का प्रयोग
नहीं कर पाया हूँ और न ही मुझमे
अभी इतनी शक्ति है , हाँ रोक
अवश्य लगा सकता हूँ !
स्थूल शरीर से निकल भागे सूक्ष्म
शरीर की मरम्मत कर दिए गए स्थूल
शरीर में पुन: प्रवेश क्रिया जटिलतम
तंत्र का अंग है ! अगर – साधक
इसमें सफल हो जाता है तो फिर
सूक्ष्म शरीर जगत पर नियंत्रण
रख सकता है और इस माध्यम से वह
अलोकिक शक्तियों को वशीभूत कर
कुछ भी कर सकता है ! संभवत:
दाताराम इसी दशा को प्राप्त करने
के लिए लालायित है पद्मपगा तंत्र
भैरवी को लाने का उद्देश्य भी यही
लगता है , पर कहीं दाताराम असफल
.....................??????
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #78  
Old 06-04-2017, 10:26 AM
sherkhan sherkhan is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 216,908
Default तान्त्रिक

तंत्र मार्ग में लगन और
परिश्रम का ही महत्त्व है ! शानो में
लगन के साथ परिश्रम करने की भी
प्रवर्ती थी ! सो उसने शव साधना
जो कि उसकी कठोर परीक्षा थी , भी
सफलतापूर्वक संपन्न कर ली थी !
अब वह अघोरी से चिरोरी कर रही थी
कि वह उसे मारण तंत्र का भी अच्छा
जानकार बना दें ताकि उसकी तंत्र
शिक्षा – पूर्ण हो जाए ! ठीक वैसा
ही हुआ जैसा कि शानो चाहती थी !
शने: शने: उस विलक्षण अघोरी ने
उसे इस अनोखी विद्या का भी
अच्छा ज्ञाता बना दिया तो शानो के
मन में एक दिन एक बात घर कर
गयी ! अगर मैं अघोरी बाबा को ही
शांत करदूं तो भला कैसा रहेगा ? फिर
मेरा कोई प्रतिद्वन्दी शेष नहीं
रहेगा !
एक दिन वह जैसे ही कुटिया में आई
तो उस अघोरी बाबा ने उसे अपने
अपनी आगोश में जोर से खींच लिया !
ज्वार के गुज़र जाने के उपरांत जैसे
ही अघोरी बाबा आँख बंद किये
शिथिल पड़ा था ठीक उसी समय
शानो ने धूने में गडा पैना त्रिशूल
निकालकर पूरी शक्ति के साथ उस
अघोरी बाबा के सीने में घोप दिया !
इस अचानक हुए वार से अघोरी बाबा
को संभलने का अवसर ही नहीं मिला !
अपने अंतिम समय में उसने शानो को
डूबती नज़रों से देखा , कुछ हलके से
बुदबुदाया और फिर ठण्डा पड़ गया !
शानो के शरीर में अघोरी बाबा का
पाप पल रहा था ! जब अघोरी बाबा
की उसने हत्या कर दी उसके ठीक
पांच महीने के पश्चात उसने एक
सुन्दर लेकिन विलक्षण बच्चे को
जन्म दिया ! यह बच्चा काफी
स्वस्थ , सेहतमंद और आकर्षक
था ! शानो उसे बड़ा प्यार करती थी ,
शानो से यह पूछने का साहस किसी
में नहीं था कि यह बच्चा उसे कैसे
हुआ ? क्योंकि पूरे गाँव में यह चर्चा
फ़ैल गयी कि शानो अनेक तांत्रिक
पराविद्याओं में पारंगत है और कहीं
नाराज़ होकर उनका कोई अहित ना
करदे ? इसके बाद दिन आते रहे और
रातें जाती रहीं ! यही प्रकर्ति का
अपना अटल नियम है ! इसे कोई नहीं
बदल सकता ! शानो का बेटा भी उसी
प्रकार से महीने साल का होते – होते
आठ बसंत पार कर गया ! इस दोरान
शानो की प्रसिद्धि दूर दूर तक फ़ैल
गयी थी !
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #79  
Old 06-04-2017, 10:26 AM
aamjayadakha aamjayadakha is offline
Senior Member
 
Join Date: Feb 2009
Posts: 276,832
Default तान्त्रिक

waiting for update
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
  #80  
Old 06-04-2017, 10:26 AM
gabbar gabbar is offline
Senior Member
 
Join Date: Jan 2012
Posts: 217,148
Default तान्त्रिक

waiting next update
Reply With Quote
Sponsored Links
CLICK HERE TO DOWNLOAD INDIAN MASALA VIDEOS n MASALA CLIPS
Sponsored Links - Indian Masala Movies
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
UKBL ~ 10 Second Banner Rotator

"Uncensored Indian Masala Movies" - The hottest Indian Sex Movies and Mallu Masala clips

Check out beautiful Indian actress in sexy and even TOPLESS poses

Indian XXX Movies!

Widest range of Indian Adult Movies of shy, authentic Desi women.....FULLY NUDE DESI MASALA VIDEOS!!! Click here to visit now!!!

 

UKBL ~ 10 Second Banner Rotator
Sponsored Links
Reply

Thread Tools
Display Modes

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off

Forum Jump


All times are GMT -4. The time now is 03:09 PM.


Powered by vBulletin® Version 3.8.3
Copyright ©2000 - 2017, Jelsoft Enterprises Ltd.

Masala Clips

Nude Indian Actress Masala Clips

Hot Masala Videos

Indian Hardcore xxx Adult Videos

Indian Masala Videos

Uncensored Mallu & Bollywood Sex

Indian Masala Sex Porn

Indian Sex Movies, Desi xxx Sex Videos

Disclaimer: HotMasalaBoard.com DOES NOT claim any responsibility to links to any pictures or videos posted by its members. HotMasalaBoard has a strict policy regarding posting copyrighted videos. If you believe that a member has posted a copyrighted picture / video, please contact Hotman super moderator. Members are also advised not to post any clandestinely shot material.